‘Uri – The Surgical Strike’ movie was released last week and it displays a heroic act of Indian Army in Sept. 2016, when it made a surgical strike into Terrorist Launchpads across the border. Such a bold step came after militants’ attack on India Army Brigade Headquarters in Uri, J&K in a pre-dawn ambush, which ended with 19 martyrs for the Indian Army.

The soldiers stay vigilant and alert on the border, so that the everyone else within the country can stay safe. However, such sacrifice is seldom acknowledged and such a movie manages to touch the patriotic chords of the Indian citizens. One can also experience the courage and commitment shown by the soldiers, ready to lay off their lives for their motherland.

The soldiers may be seen as the bravehearts, but they too carry emotions within themselves. One of the martyrs in an Uri-like attack has also written a letter to his Motherland, expressing his emotions in his last journey. The letter is reproduced below:

रूठ ना जाना तू मुझसे ए ज़िन्दगी,
मैं जल्दी ही वापिस आयूँगा,
क्या हुआ जो इस बार रह गया अधूरा,
किया हर वादा तुझसे निभाऊँगा।

अनजान वक़्त में एक हमला जो हुआ,
तेरे प्यार को मंझदार में छोड़ जाना पड़ा,
4 आतंकवादी चाहे मार गिराये मैंने भी,
पर आख़िर 2 गोलियों से हार जाना पड़ा।

तुझसे किए एक वादे की ख़ातिर,
बाक़ी हर वादा मुझे भूल जाना पड़ा,
सजके आया था फ़ौजी की वर्दी में,
आज तिरंगे में लिपट कर जाना पड़ा।

ना समझना हमें तू बेवफ़ा कभी,
हम जैसे भी कौन मोहब्बत निभायेगा,
देश को मान के अपनी महबूबा,
कौन उस प्यार में जान लुटायेगा।

हो सफ़र चाहे यह आख़िर मेरा,
पर तुझसे अलग ना हो पाएँगे,
अगले जन्म में जो मिलेगा मौक़ा,
नाम तेरे ही फिर से ज़िन्दगी करवाएँगे।

एक अर्ज़ी है मेरी सबसे ओ यारा,
मेरी मौत पे ना कोई आँसु बहाना,
जो आए थे चुपके से हमला करने,
उनको उनके यहाँ ही मार गिराना।

कर चुके है तनहा अपने कुछ साथियों को,
पर चाहूँगा मैं सबको यह बतलाना,
सब यादे साथ ले के जा रहे हैं,
इन यादों को चाहूँगा मैं गले लगाना।

फिर से आएगा यह लौटकर यहाँ पे,
पर अभी तो जा रहा है तेरा दीवाना,
जनाज़ा निकल रहा है तेरी गली से,
बस जा रहा है अब तेरा दीवाना,
कोई ना रोए ना आँसु बहाना,
चाहे जा रहा है भारत का दीवाना।

Let us always value the sacrifices made by the soldiers, be it their lives, or even the time that they could have spent with their families but chose to be available on their duty.

Do share your comments below.

Images sourced from Google images.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *